Join For Latest Government Job & Latest News

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Class 10th Hindi Grammar Varn Vichar Subjective and Objective Questions [ हिंदी व्याकरण ] वर्ण विचार सब्जेक्टिव और ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन
Class 10th Sanskrit Objective uestion Class 10th Sanskrit Subjective Question Answer

Matric Sanskrit Pataliputravaibhavam Subjective Questions 2024 [ संस्कृत ] पाटलिपुत्रवैभवम सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024

संस्कृत ( Sanskrit ) पाटलिपुत्रवैभवम सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024:- हैलो दोस्तो अगर आप मैट्रिक परीक्षा 2024 के लिए तैयारी कर रहे है तो यहां पर क्लास 10th Sanskrit संस्कृत का महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर ( Class 10th Sanskrit Short Type vvi Subjective Question Answer ) दिया गया है यहां पर क्लास 10th संस्कृत 2024 का मॉडल पेपर ( Class 10th Sanskrit Model Paper ) तथा ऑनलाइन टेस्ट ( Online Test ) भी दिया गया है और PDF डाउनलोड कर के भी पढ़ सकते हैं । और आप मैट्रिक के फाइनल एग्जाम में अच्छा मार्क्स ला सकते हैं और अपने भाविष्य को उज्वल बना सकते है धन्यवाद –

Contents hide

Matric Sanskrit Pataliputravaibhavam Subjective Questions 2024 [ संस्कृत ] पाटलिपुत्रवैभवम सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024

प्रश्न 1. पाटलिपुत्र का पुष्पपुर या कुसुमपुर नाम का उल्लेख कहाँ है ?

उत्तर ⇒ अनेक प्राचीन संस्कृत ग्रंथ एवं पुराणों में पाटलिपुत्र का अन्य नाम पुष्पपुर या कुसुमपुरं देखा गया है।

Join us on Telegram

प्रश्न 2. पटना के मुख्य दर्शनीय स्थलों का नामोल्लेख करें

उत्तर ⇒ गोलघर, तारामण्डल, जैविक उद्यान, उच्च न्यायालय, सचिवालय, गुरुद्वारा आदि पटना के मुख्य दर्शनीय स्थल हैं।

प्रश्न 3. पाटलिपुत्रनगर के वैभव का वर्णन करें ।

उत्तर ⇒ पाटलिपुत्र प्राचीनकाल से ही अपने वैभव परम्परा के लिए विख्यात रहा है। विदेशी यूनानी लोगों ने आकर अपने संस्मरणों में यहाँ की अनेक उत्कृष्ट सम्पदाओं का वर्णन किया है । मेगास्थनीज ने लिखा है कि चन्द्रगुप्त मौर्य काल में यहाँ की शोभा और रक्षा व्यवस्था अति उत्कृष्ट थी। अशोक काल में यहाँ निरंतर समृद्धि रही। कवि राजशेखर ने अपनी रचना काव्यमीमांसा में ऐसी ही बात लिखी है कि यहाँ बड़े-बड़े कवि – वैयाकरण – भाष्यकार परीक्षित हुए । आज पाटलिपुत्रनगर ‘पटना’ नाम से जाना जाता है जहाँ संग्रहालय, गोलघर, जैविक उद्यान इत्यादि दर्शनीय स्थल हैं। इस प्रकार पाटलिपुत्र प्राचीनकाल से आज तक विभिन्न क्षेत्रों में वैभव धारण करता रहा है जिसका संकलित रूप संग्रहालय में देखने योग्य है।

प्रश्न 4. पाटलिपुत्र की विशेषताओं का वर्णन करें ।

उत्तर ⇒ अभी पाटलिपुत्र बिहार की राजधानी है। अभी प्रतिदिन नगर का विस्तार हो रहा है। यह गंगा नदी के किनारे वसा है। गंगा के ऊपर एशिया का सबसे लम्बा सड़क और रेल पुल है। यहीं संग्रहालय, सचिवालय, गोलघर, तारामंडल, गुरुद्वारा, जैविक उद्यान, मौर्यकालिक अवशेष आदि दर्शनीय स्थल हैं।

प्रश्न 5. प्राचीन काल से ही पाटलिपुत्र कैसे नगर के रूप में प्रसिद्ध है ?

उत्तर ⇒ प्राचीनकाल से पाटलिपुत्र विचित्र महानगर के रूप में स्थित है। इसका इतिहास ढाई हजार वर्ष पुराना है । यहाँ धार्मिक, राजनीतिक तथा उद्योग का क्षेत्र विशेष ध्यान आकृष्ट करनेवाला है। यहाँ मेगास्थनीज, फाह्यान, ह्वेनसांग आदि विदेशी यात्रियों का आगमन हुआ था। महात्मा बुद्ध ने भी इस नगर की चर्चा की है । चन्द्रगुप्त मौर्य, अशोक आदि यहाँ के महान् शासक हुए।

प्रश्न 6. चन्द्रगुप्त मौर्य के काल में पाटलिपुत्र की रक्षा व्यवस्था कैसी थी ?

उत्तर ⇒ चन्द्रगुप्त मौर्य के काल में पाटलिपुत्र की रक्षा व्यवस्था अत्यंत उत्कृष्ट थी जिसका विवरण यूनानी राजदूत मेगास्थनीज ने अपने संस्मरण में लिखा है

प्रश्न 7. राजशेखर ने पटना के सम्बन्ध में क्या लिखा है ?

उत्तर ⇒ राजशेखर ने अपने काव्यमीमांसा में लिखा है कि पाटलिपुत्र शिक्षा का एक प्राचीन केन्द्र था। यहाँ अनेक संस्कृत विद्वान हुए हैं। यहाँ पाणिनी, पिंगल. पतञ्जलि आदि की परीक्षा ली गई थी।

 

Sanskrit Pataliputravaibhavam Subjective Question Answer 2024

 

प्रश्न 8. भगवान् बुद्ध ने पाटलिग्राम के बारे में क्या कहा था ?

उत्तर ⇒ भगवान् बुद्ध प्राचीन काल में अनेक बार पाटलिग्राम आये थे। यहाँ आकर इस गाँव के महत्त्व को बढ़ाया था और उसी समय उन्होंने कहा था- ‘यह गाँव कालान्तर में एक दिन महानगर होगा, परन्तु इस नगर को आग, पानी और युद्ध का भय सदा बना रहेगा ।

प्रश्न 9. पटना में कौमुदी महोत्सव कब मनाया जाता था ?

उत्तर ⇒ पाटलिपुत्र में शरत्काल में कौमुदी महोत्सव मनाया जाता था । इस समारोह का विशेष प्रचलन गुप्तवंश के शासनकाल में था ।

प्रश्न 10. दामोदर गप्त ने पटना के संबंध में क्या लिखा है ?

उत्तर ⇒ कवि दामोदर गुप्त के अनुसार पाटलिपुत्र (पटना) महानगर पृथ्वी पर बसे नगरों में श्रेष्ठ है। यहाँ सरस्वती के वंशज यानी विद्वान लोग बसते हैं। कवि ने इस महानगर की तुलना इन्द्र की भरी-पूरी नगरी से की है।

प्रश्न 11. प्राचीन ग्रंथों में पटना के कौन-कौन से नाम मिलते हैं ?

उत्तर ⇒ प्राचीन ग्रंथों में पटना के नाम पुष्पपुर, कुसुमपुर, पाटलिपुत्र आदि मिलते हैं।

प्रश्न 12. कौन-कौन से विदेशी यात्री पटना आये थे ?

उत्तर ⇒ मेगास्थनीज, फाह्या, ह्वेनसांग और इत्सिंग आदि विदेशी यात्री पटना आये थे।

प्रश्न 13. पाटलिपुत्र शब्द कैसे बना ?

उत्तर ⇒ ‘पाटलिग्राम’ शब्द से पाटलिपुत्र बना। कुछ प्राचीन संस्कृत ग्रंथों एवं पुराणों में पाटलिपुत्र का दूसरा नाम पुष्पपुर, कुसुमपुर प्राप्त होता है।

प्रश्न 14. पटना का गुरुद्वारा किसके लिये और क्यों प्रसिद्ध है ? तीन वाक्यों में उत्तर दें ।

उत्तर ⇒ सिक्ख सम्प्रदाय के लोगों के लिए प्राचीन पटना नगर में पूजनीय स्थल अवस्थित है । यहाँ उनके दसवें गुरु गोविंद सिंह का जन्म – स्थान है । यह स्थल गुरुद्वारा के नाम से जाना जाता है ।

प्रश्न 15. चंद्रगुप्त मौर्य तथा अशोक के समय पाटलिपुत्र कैसा नगर था ?

उत्तर ⇒ चन्द्रगुप्त मौर्य के समय पाटलिपुत्र की रक्षा-व्यवस्था काफी मजबूत थी। यह सुंदर नगर था । अशोक के शासनकाल में इस नगर का वैभव और अधिक समृद्ध हुआ ।

प्रश्न 16. पाटलिपुत्र के प्राचीन महोत्सव का वर्णन करें ।

उत्तर ⇒ पाटलिपुत्र में शरतकाल में कौमुदी महोत्सव बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता था। सभी नगरवासी आनंदमग्न हो जाते थे । इस समारोह का विशेष प्रचलन गुप्तवंश के शासनकाल में था । आजकल जिस तरह दुर्गापूजा मनाई जाती है, उसी प्रकार प्राचीनकाल में कौमुदी महोत्सव मनाया जाता था ।

प्रश्न 17. लेखक ‘पाटलिपुत्रवैभवम्’ पाठ से हमें क्या संदेश देना चाहते हैं ?

उत्तर ⇒ लेखक का कहना है कि प्राचीन काल में पाटलिपुत्र एक महान नगर था, जहाँ शिक्षा, वैभव और समृद्धि थी । मध्यकाल में इसकी स्थिति ठीक नहीं थी । मुगलकाल में इस नगर का पुनः उद्धार हुआ तथा अंग्रेज के शासन काल से लेकर वर्तमान में इस नगर का अत्यधिक विकास हो रहा है ।

Sanskrit Pataliputravaibhavam Subjective Question Answer pdf hindi

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *