Join For Latest Government Job & Latest News

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Matric Hindi Dhahate Vishvas Subjective Questions 2024 [ हिन्दी ] ढहते विश्वास सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024

हिन्दी ( Hindi ) ढहते विश्वास लघु उत्तरीय और दीर्घ उत्तरीय सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024:- हैलो दोस्तो अगर आप मैट्रिक परीक्षा 2024 के लिए तैयारी कर रहे है तो यहां पर क्लास 10th Hindi हिन्दी का महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर ( Class 10th Hindi Short Type vvi Subjective Question Answer ) दिया गया है यहां पर क्लास 10th हिन्दी 2024 का मॉडल पेपर ( Class 10th Hindi Model Paper ) तथा ऑनलाइन टेस्ट ( Online Test ) भी दिया गया है और PDF डाउनलोड कर के भी पढ़ सकते हैं । और आप मैट्रिक के फाइनल एग्जाम में अच्छा मार्क्स ला सकते हैं और अपने भाविष्य को उज्वल बना सकते है धन्यवाद –

Contents hide

हिन्दी (Hindi) का नागरी लिपि लघु उत्तरीय प्रश्न उत्तर और दीर्घ उत्तरीय प्रश्न उत्तर

                                         लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1. लक्ष्मी कौन थी ? उसके पति का क्या नाम था ?

उत्तर ⇒ लक्ष्मी उड़ीसा की एक स्त्री थी जिसका घर देवी बाँध के नीचे था। उसके पति का नाम लक्ष्मण था जो कलकत्ता में काम करता था।

Join us on Telegram

प्रश्न 2. नदी की बाढ़ का विकराल रूप देखने के बावजूद मनुष्य वहाँ से क्यों नहीं खिसका ?

उत्तर ⇒ नदी की बाढ़ का विकराल रूप देखने के बाद भी मनुष्य वहाँ से नहीं खिसका । उसने नदी के किनारे ही घर बनाया। नगर और जनपद भी नदी के किनारे ही बने और इस तरह नदी के किनारे ही सभ्यता का विकास हुआ।
मनुष्य नदी से जुड़ा है, क्योंकि वह उसके सुख-दुःख के गीत गाती अनवरत बहती रहती है। मनुष्य उसका पानी पीकर, उसके पानी से खेत सींच कर अनाज उत्पन्न कर रहा है। नदी ने उसके खेतों को अपनी मिट्टी देकर उर्वर बनाया है।
नदी ही उसे देती है खाने को मछली। बाढ़ आती है, बाँध के घेरे तहस-नहस कर देती है, पर मनुष्य उसे शत्रु नहीं कहता, और न ही उसका किनारा छोड़कर भागता है। नदी देती है जिन्दगी, नदी देती है गति, नदी देती है गीत, नदी देती है आशा और उमंग- ऐसी नदी को छोड़कर मनुष्य कहाँ बसेगा!

प्रश्न 3. लक्ष्मी ने अपने पुत्र को किस कार्य के लिए भेज दिया था ?

उत्तर ⇒ लक्ष्मी ने अपने बड़े लड़के को बाँध की निगरानी के लिए भेज दिया था। वह अपने साथियों के साथ रातभर बाँध की निगरानी करेगा, कमजोर स्थानों पर रेत की बोरियाँ डालेगा, पत्थर ढोयेगा और बाँध की रक्षा करेगा।

प्रश्न 4. महानन्दा का पानी कहाँ ठहर जाता है ?

उत्तर ⇒ महानन्दा का पानी जोब्रा आनिकट में ठहर जाता है ।

प्रश्न 5. देवी-देवताओं पर से विश्वास कब टूटता है ?

उत्तर ⇒ घोर विपत्ति में भी सहारा न मिलने पर देवी-देवताओं पर से विश्वास टूटता है ।

प्रश्न 6. लक्ष्मी क्यों पिछड़ गई ?

उत्तर ⇒ लक्ष्मी के साथ दो छोटी बच्चियाँ, गोद में बच्चा और माथे पर चिउड़ा- वर्तन और कपड़े भरे बोरी थी । अतः वह पिछड़ गई ।

प्रश्न 7. विपत्ति अकेले न आकर संगी-साथियों के साथ आती है, कहानी के आधार पर स्पष्ट करें ।

उत्तर ⇒ कहानी में उल्लिखित उपर्युक्त उक्ति सत्य है । तूफान के बाद सूखा और उसके बाद बाढ़ का प्रकोप ही सिद्ध करता है कि विपत्ति अकेले नहीं आकर संगी-साथियों के साथ आती है ।

प्रश्न 8. लक्ष्मण कहाँ नौकरी करता था ?

उत्तर ⇒ लक्ष्मी के पति का नाम लक्ष्मण था जो कलकत्ता में काम करता था।

                                           दीर्घ उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 1. लक्ष्मी कौन थी ? उसकी पारिवारिक परिस्थिति का चित्र प्रस्तुत कीजिए ।

उत्तर ⇒ लक्ष्मी एक दीन महिला थी जिसके पति कलकत्ता में रहकर नौकरी करता था । वह जो पैसा भेजता था, उससे बच्चों के साथ लक्ष्मी का भरण – पोषण संभव नहीं था । उसके पास मात्र एक बीघा भूखंड था । प्रकृति के प्रकोप के कारण उसमें हल चलवाने के पैसे भी बेकार जाते थे । अतः तहसीलदार के यहाँ काम-काज करके वह जीविका चलाती थी । उसका बड़ा बेटा अच्युत दो बेटियाँ तथा एक नन्हा मुन्ना
और अपने स्वयं का भरण-पोषण की सारी जिम्मेवारी उसी पर थी । अतः उसकी पारिवारिक स्थिति दयनीयं थी ।

प्रश्न 2. सातकोड़ी होता ने अपनी कहानी का शीर्षक ‘ढहते विश्वास’ क्यों अथवा, क्या ‘ढहते विश्वास’ कहानी के शीर्षक सार्थक है ? विचार करें ।

उत्तर ⇒ घटित घटना के आधार पर ही सिद्धहस्त लेखक ने कहानी का शीर्षक ‘ढहते विश्वास’ रखा है । भयंकर बाढ़ के समय लोग बड़ी आशा और उम्मीद से माँ मुंडेश्वरी की शरणागत हुए, जहाँ चैत की संक्रान्ति में देवी की पूजा होती थी, बलि दी जाती थी। पर आज भगवान, शिव और माँ मुंडेश्वरी कोई सहायता नहीं कर सके । अब लोगों को किसी पर भरोसा नहीं रह गया । देवी-देवताओं पर से विश्वास उठने लगा है। अतः कहानी का शीर्षक सटीक और सत्य है ।

प्रश्न 3. कहानी में आये बाढ़ के दृश्यों का चित्रण अपने शब्दों में प्रस्तुत करें ।

उत्तर ⇒ दलेई बाँध पर काफी श्रम करके भी लोग सफल न हो सके और बाँध टूट ही गया। सूचना मिलते ही लोग टीले की ओर दौड़ पड़े पर पानी का बहाव तेज था । कुछ लोग रास्ते में बह गया । स्कूल भी पानी से भर गया । घुटने भर पानी में लोग छत पर खड़े रहे पर कमरे वालों की क्या गति हुई यह किसी को मालूम नहीं । लक्ष्मी आदि कुछ लोग वृक्ष की जटा और डाल पकड़ कर लटक गए । चण्डेश्वरी चबूतरा भी पानी से भर गया। लोग अफरा-तफरी में जान बचाने को आकुल-व्याकुल थे पर कोई देव-शक्ति उन्हें रक्षा नहीं कर सकी । इस विभीषिका में गाँव का विनाश हो गया ।

प्रश्न 4. ‘ढहते विश्वास’ कहानी की लक्ष्मी का चरित्र-चित्रण करें। अथवा, लक्ष्मी के व्यक्तित्व पर विचार करें।

उत्तर ⇒ लक्ष्मी इस कहानी का प्रमुख पात्र है । उसके व्यक्तित्व में कूट-कूटकर दृढ़ता और साहस भरा है । गाँव में मात्र एक बीघा उसकी भू-खंड है, पर पूर्व अनुभव के आधार पर न उसने घर छोड़ी और न गाँव । अच्युत को भी समाज रक्षा में लगा दिया। उसके हृदय में मातृत्व की जलधार बहती है । अच्युत के लिए तो उसने विलम्ब किया ही मूर्छा से जागने पर एक मुर्दे बच्चे को छाती से भींच लेती है । इस प्रकार लक्ष्मी के व्यक्तित्व में नारी सुलभ मातृत्व के साथ-साथ दृढ़ता और साहस का अच्छा मिश्रण है ।

प्रश्न 5. कहानी के आधार पर प्रमाणित करें कि उड़ीसा का जन-जीवन बाढ़ और सूखा से काफी प्रभावित रहा है ।

उत्तर ⇒ उड़ीसा के जन-जीवन का सफल चितेरा सातकोड़ी होता ने अपनी इस कहानी में उड़ीसा की बाढ़ और सूखा का प्रत्यक्ष प्रतिबिम्ब प्रस्तुत किया है । तूफान के बाद सूखा और उसके बाद बाढ़ वहाँ के जनजीवन को अस्त-व्यस्त करके हर समय बेसहारा बना देता है । महानदी का हीराकुंड बाँध और अयाति द्वारा निर्मित पत्थर का बाँध भी उनकी रक्षा नहीं कर पाते । सूखे में विचड़े तक सूख जाते हैं और बाढ़ में असंख्य धन-जन की हानि होती रहती है ।

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top