Join For Latest Government Job & Latest News

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Class 10th Hindi Grammar Varn Vichar Subjective and Objective Questions [ हिंदी व्याकरण ] वर्ण विचार सब्जेक्टिव और ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन
Class 10th Geography Subjective Question Class 10th Subjective Question

Matric Geography Krishi Subjective Questions 2024 [ भूगोल ] कृषि सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024

भूगोल ( Geography) कृषि लघु उत्तरीय सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024:- हैलो दोस्तो अगर आप मैट्रिक परीक्षा 2024 के लिए तैयारी कर रहे है तो यहां पर क्लास 10th Geography भूगोल का महत्वपूर्ण सब्जेक्टिव क्वेश्चन आंसर ( Class 10th Geography Short Type vvi Subjective Question Answer ) दिया गया है यहां पर क्लास 10th भूगोल 2024 का मॉडल पेपर ( Class 10th Geography Model Paper ) तथा ऑनलाइन टेस्ट ( Online Test ) भी दिया गया है और PDF डाउनलोड कर के भी पढ़ सकते हैं । और आप मैट्रिक के फाइनल एग्जाम में अच्छा मार्क्स ला सकते हैं और अपने भाविष्य को उज्वल बना सकते है धन्यवाद –

Join us on Telegram

Matric Geography Krishi Subjective Questions 2024 [ भूगोल ] कृषि सब्जेक्टिव क्वेश्चन 2024

 

प्रश्न 1. व्यापारिक कृषि और निर्वाहक कृषि में अंतर बतलाएँ

उत्तर ⇒ व्यापारिक कृषि फसलें व्यापार के लिए उपजायी जाती है। अतः इस कृषि में अधिक पूँजी आधुनिक कृषि तकनीक का निवेश किया जाता है। रोपण कृषि ही व्यापारिक कृषि है । जैसे चाय, कहवा, गन्ना तथा केला आदि ।
निर्वाहक कृषि किसान लकड़ी के बने हल, कुदाल एवं खुरपी द्वारा उपज करता है जिससे पैदावार बहुत ही कम होती है। जमीन की जुताई जैसे-तैसे कर दी जाती । प्रति हेक्टेयर उत्पादन काफी कम होता है। यह सिर्फ अपने निर्वाह के लिए खेती करता है इसलिए इसे निर्वाहक कृषि या परम्परागत कृषि कहते हैं। जैसे- धान, गेहूँ तथा साग-सब्जी आदि ।

प्रश्न 2. नगदी फसल और रोपण फसल में अंतर बतलाएँ ।
अथवा, भारत की सबसे प्रमुख रोपण फसल कौन-सी है ?

उत्तर ⇒नगदी फसल-ऐसे फसल जिसमें फसल का उत्पादन
केवल बेचने के उद्देश्य से करते हैं । जैसे गन्ना ।
रोपण फसल-वृहत् पैमाने पर की जाने वाली एक फसली कृषि जिसमें अत्यधिक पूँजी का विनियोग, बड़े-बड़े कार्य, आधुनिक एवं प्रौद्योगिक, बतलायी जाती है। जैसे—- चाय, रबड़, केला आदि ।

प्रश्न 3. हरित क्रांति से आप क्या समझते हैं ?

उत्तर ⇒ 1960-70 के दशक में कृषि में सुधार के अंतर्गत एक पैकेज लायी गयी। जिसमें गेहूँ में कृषि में हरित क्रांति की शुरूआत हुई। इसके अंतर्गत संकर किश्म का उन्नत बीज रासायनिक खाद, सिंचाई, कीटनाशक आदि का उत्पादक प्रयोग कर खाद्य उत्पादन में अप्रत्याशित वृद्धि की गई है तथा खाद्य सुरक्षा में यह मील का पत्थर साबित हुई है। इस क्रांति को आगे बढ़ने में सहकारिता विभाग पर भारत सरकार ने काफी ध्यान दिया । हरित क्रांति से फसलों के पैदावार में काफी वृद्धि हो गयी, इससे साधन उत्पादन में भारत आत्म-निर्भर हो गया

प्रश्न 4. भारत की दो नकदी एवं दो रेशेवाली फसलों के नाम बताइए ।

उत्तर ⇒ भारत की दो नकदी फसलें गन्ना, तम्बाकू तथा धान आदि । भारत की दो रेशेदार फसलें- पटसन व जूट आदि ।

प्रश्न 5. भारतीय कृषि की पाँच प्रमुख विशेषताओं को लिखिए।

उत्तर ⇒भारतीय कृषि की पाँच प्रमुख विशेषताएँ निम्नलिखित हैं-

(i) भारतीय कृषि आर्थिक जीवन कां प्राण है। भारत में लगभग 2/3 लोगों की जीविका कृषि पर आधारित है।

(ii) यहाँ की विशाल जनसंख्या के लिए भोजन कृषि से ही प्राप्त होता है ।

(iii) यहाँ की कृषि से कच्चे माल उद्योगों को प्राप्त होते हैं। जैसे – कपास से सूती वस्त्र उद्योगों, गन्ना से चीनी उद्योग, जूट से जूट उद्योग एवं अन्य कृषि उत्पाद कृषि प्रसंस्करण उद्योगों को कच्चा माल देते हैं। जैसे- रसदार फल जैली जैम, स्वतंत्र उत्पादन के लिए आधार प्रदान करते हैं। इस तरह की कृषि उद्योगों की मजबूती प्रदान करता ।

(iv) यहाँ की जलवायु मिट्टी एवं धरातल की विविधता के कारण भारत में फसलों की विविधता भी पायी जाती है। चाय, गन्ना, मोटे अनाज एवं कुछ तिलहनों के उत्पादन का विश्व में अग्रणी स्थान है

(v) राष्ट्रीय आय में भारतीय कृषि का मुख्य योगदान है। देश की 24% आय कृषि से प्राप्त होता है !

प्रश्न 6. कपास के उत्पादन में महाराष्ट्र क्यों प्रसिद्ध है?
अथवा, कपास उत्पाद की प्रमुख भौगोलिक दशाओं का उल्लेख करें ।

उत्तर ⇒कपास उत्पादन के लिए प्रमुख भौगोलिक दशाएँ हैं-

(i) औसत मासिक तापमान 21 °C – 30°C,

(ii) 75-100 सेंटीमीटर वर्षा,

(iii) 210 दि पालारहित,

(iv) काली मिट्टी सर्वोत्तम तथा

(v) सस्ते पर्याप्त श्रमिक ।
उपर्युक्त सभी भौगोलिक दशाएँ महाराष्ट्र में उपलब्ध हैं।

प्रश्न 7. भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि का क्या महत्त्व है ?

उत्तर ⇒भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि का निम्नलिखित महत्त्व

(i) भारत की 70% आबादी रोजगार और आजीविका के लिए कृषि पर आश्रित है।

(ii) देश के सकल राष्ट्रीय उत्पाद में कृषि का योगदान 22% ही है। फिर भी, बहुत सारे उद्योगों को कच्चा माल कृषि उत्पाद से ही मिलता है।

(iii) कृषि उत्पाद से ही देश की इतनी बड़ी जनसंख्या को खाद्यान्न की आपूर्ति होती है। अगर ऐसा न हो तो खाद्यान्न आयात करना पड़ेगा।

(iv) कृषि के अनेक उत्पादों में भारत विश्व में पहले, दूसरे एवं तीसरे स्थान पर है।

(v) अनेक कृषि उत्पादों का भारत निर्यातक है जिससे विदेशी मुद्रा की प्राप्ति होती है।

(vi) कृषि ने अनेक उद्योगों को विकसित होने का अवसर प्रदान किया है।

प्रश्न 8. गन्ने की उपज उत्तरी भारत की अपेक्षा दक्षिण भारत में अधिक है, क्यों ?

उत्तर ⇒ गन्ना की उपज उत्तरी भारत की अपेक्षा दक्षिण भारत में अधिक है । कारण, समुद्री जलवायु में गन्ना उत्तम होता है। दक्षिण भारत के गन्ना में शर्करा की मात्रा अधिक होती है।

प्रश्न 9. भारतीय कृषि की निम्न उत्पादकता के कारणों को संक्षेप में लिखिए ।

उत्तर ⇒भारतीय कृषि की निम्न उत्पादकता के कई कारण हैं, जिनमें-

(i) जनसंख्या का कृषि भूमि पर निरंतर बढ़ता दबाव ।

(ii) घटता कृषि भूमि क्षेत्र ।

(iii) खेतों का छोटा आकार ।

(iv) भू-स्वामित्व प्रणाली ।

(v) सिंचाई कम और अनिश्चित सुविधाएँ।

(vi) मानसूनी वर्षा की अनिश्चितता ।

(vii) कृषि योग्य भूमि का निम्नीकरण ।

(viii) कम पूँजी निवेश ।

(ix) आधुनिक कृषि तकनीक, कीटनाशक, रासायनिक खाद आधुनिक यंत्र का सीमित उपयोग ।

(x) कृषि में वाणिज्यीकरण का अभाव ।

प्रश्न 10. चावल की फसल के लिए उपयुक्त भौगोलिक दशाओं का उल्लेख करें ।

उत्तर ⇒ बिहार में धान की फसल खरीफ फसल के अंतर्गत आती है। यहाँ तीन उपजें भदई, अगहनी तथा गरमा होती है। यह राज्य के लगभग सभी क्षेत्रों में उत्पन्न की जाती है। बिहार की मैदानी भाग अधिक उपयुक्त है, क्योंकि जलोढ़ मिट्टी काफी उपजाऊ है, यह फसल जून-जुलाई में लगाई जाती है । यह उष्णार्द्र जलवायु की फसल है। इसके लिए 20°-27°C तापमान 75-200 cm. वर्षा एवं अधिक श्रमिक चाहिए ।

प्रश्न 11. गेहूँ के भौगोलिक दशाओं के बारे में लिखें।

उत्तर ⇒यह जाड़े ऋतु में उगाया जाता है। पकते समय में इसे खिली धूप की आवश्यकता होती है तथा आगे के लिए समान रूप से विपरीत 50-75 cm. वार्षिक वर्षा की आवश्यकता होती है। दोमट मिट्टी चाहिए एवं सिंचाई की सहायता से 20 cm. वार्षिक वर्षा वाले क्षेत्रों में भी उगायी जाती है।

प्रश्न 12. शुष्क कृषि एवं आर्द्र कृषि में अंतर स्पष्ट करें।

उत्तर ⇒ शुष्क कृषि उन भागों में होती है जहाँ वर्षा 50 cm से कम होती है तथा आर्द्र कृषि विशेषकर उन भागों में होती है जहाँ वर्षा का औसत 100 से 200 cm. के मध्य होता है।

प्रश्न 13. भारत का कौन-सा राज्य रबर उत्पादन में अग्रणी है ? दो कारण दीजिए ।

उत्तर ⇒भारत में केरल राज्य रबड़ उत्पादन में अग्रणी है। इसके प्रमुख कारणों में केरल में 200 cm. से अधिक वर्षा और 32°C से अधिक तापमान का होना तथा यहाँ की लाल लैटेराइट चिकनी तथा दोमट मिट्टी पौधे की बढ़ोत्तरी के लिए उत्तम हैं ।

प्रश्न 14. भारत में उपजाये जानेवाले प्रमुख खाद्य एवं व्यावसायिक फसलों के नाम लिखिए ।

उत्तर ⇒ भारत में उपजाये जाने वाले प्रमुख खाद्य फसल है— चावल, गेहूँ, मकई, दालें, सब्जी, मूँगफली तथा व्यावसायिक प्रमुख फसलें हैं- गन्ना, चाय, कहवा, तम्बाकू, जूट ।

प्रश्न 15. गहन जीवन कृषि क्या है ?

उत्तर ⇒ गहन कृषि उन क्षेत्रों में पायी जाती है जहाँ जनसंख्या के अनुपात की भूमि कम होती है। अधिक पूँजी तथा श्रम लगाकर अधिकतम उत्पादन किया जाता है।

प्रश्न  16. भारत कपास का आयात एवं निर्यात दोनों करता है, कैसे ?

उत्तर ⇒भारत लम्बे रेशे के कपास का अमेरिका, मिस्र, सूडान एवं केन्या से आयात करता है एवं छोटे एवं मध्यम किश्म के रेशे की कपास का ब्रिटेन एवं जापान को निर्यात करता है ।

प्रश्न 17. रबी फसलें क्या हैं ? चार उदाहरण दें।

उत्तर ⇒ रबी फसलें को शीत ऋतु में अक्टूबर से दिसम्बर के मध्य बोया जाता है तथा ग्रीष्म ऋतु में अप्रैल से जून के मध्य काटा जाता है।

(i) गेहूँ,

(ii) जौ,

(iii) चना तथा

(iv) मटर |

प्रश्न 18. कहवा उत्पादन प्रमुख राज्य कौन है ?

उत्तर ⇒भारत में कॉफी दक्षिण भारत में उगाया जाता है। कर्नाटक भारत का सबसे बड़ा उत्पाद, राज्य है, यहाँ चाय का 20% काफी उत्पादन किया जाता है, इसके अलावे इसका उत्पादन तमिलनाडु, केरल में भी होता है

प्रश्न 19. भारत विश्व का एक अग्रणी चाय निर्यातक देश है, कैसे ?

उत्तर ⇒भारत विश्व का चाय का सबसे बड़ा उत्पादक एवं निर्यातक है । यहाँ प्रति हेक्टेयर चाय का उत्पादन विश्व में सर्वाधिक होता है । यहाँ मुख्य रूप से चाय, असम, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु में होता है एवं प्रति व्यक्ति चाय खपत कम है ।

प्रश्न 20. चाय की खेती असम में ज्यादा होती है। क्यों ?

उत्तर ⇒असम की पर्वतीय ढलानों पर चाय की खेती के लिए उपयुक्त तापमान एवं वर्षा उपलब्ध है। ढालुवाँ भूमि के कारण वर्षा का पानी झाड़ियों की जड़ों में जम नहीं पाता है। साथ ही, पूर्वी राज्यों से यहाँ सस्ते एवं पर्याप्त मजदूर उपलब्ध
यही कारण है कि असम में चाय की खेती ज्यादा होती है।

प्रश्न 21. भारत में कृषि भूमि पर अधिक दबाव है । क्यों ?

उत्तर ⇒भारत में बच्चों को भू-स्वामित्व में विरासत का अधिकार प्राप्त हैं। इस कारण पीढ़ी दर पीढ़ी भूमि बँटती जाती है और जोतों का आकार छोटा होता जाता है। अतः, किसान बैकल्पिक रोजगार न होने के कारण अपनी भूमि से अधिकतम पैदावार लेने की कोशिश करता है। इसी कारण भूमि पर दबाव अधिक है।

प्रश्न 22. उपर्युक्त फसलों के उत्पादन करने वाले दो प्रमुख राज्यों का नाम लिखें ।

प्रश्न 23. वैश्वीकरण का भारतीय कृषि पर क्या प्रभाव पड़ा है ?

उत्तर ⇒ वैश्वीकरण का भारतीय कृषि पर बहुत प्रभाव पड़ रहा है। वैश्वीकरण का अर्थ है देश की अर्थव्यवस्था का विश्व की अर्थव्यवस्था के साथ जुड़ना । इसने भारतीय बाजार को विश्व के बाजार के लिए खोल दिया है । अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर सरकारी तंत्र की पकड़ ढीली हो गई है। अब विदेशी उत्पाद जिसमें कृषिजन्य उत्पाद भी शामिल हैं, आसानी से भारत में बेचे जा सकते हैं। इस अंतर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्द्धा से भारतीय किसान को एक बहुत बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है । .

प्रश्न 24. शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद में कृषि के योगदान की चर्चा कीजिए ।

उत्तर ⇒भारत कृषि प्रधान देश है। कृषि प्रधान देश होने के कारण भारतीय कृषि अर्थव्यवस्था में नींव के पत्थर की भाँति महत्त्व रखता है। 2001 में देश की लगभग 69% जनसंख्या कृषि से रोजगार प्राप्त की। किन्तु स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद सकल घरेलू उत्पाद में कृषि का योगदान लगातार घट रहा है। वर्तमान समय में 24% आय कृषि से प्राप्त है। कृषि का आंतरिक एवं अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में महत्वपूर्ण भूमिका है जो अजादी के समय काफी कम है। कृषि में गिरावट समाज के अन्य क्षेत्रों में गिरावट लायेगी। कृषि के महत्त्व को समझते हुए भारत सरकार ने इसके विकास पूर्व वृद्धि के लिए इसके आधुनिकीकरण का प्रयास किया जा रहा है।

प्रश्न 25. शुष्क भूमि के चार प्रमुख विशेषता का वर्णन करें।

उत्तर ⇒शुष्क भूमि के चार प्रमुख विशेषताएँ इस प्रकार अग्रलिखित हैं-

(i) वर्षा जल की संरक्षित करने की विधियों का प्रयोग किया जाता है। ताकि शुष्क समय में उसका उपयोग किया जा सके ।

(ii) आवश्यकता से अधिक जल को भूमिगत जल के पुनःभरण के लिए संरक्षित रखा जाता है ।

(iii) शुष्कता के कारण ह्यूमस की मात्रा यहाँ की मिट्टी में बहुत कम होती है।

(iv) शुष्कता के कारण मिट्टी की ऊपरी परत का वायु द्वारा कटाव होता है ।

प्रश्न 26. गहन कृषि की विशेषताओं को लिखें।

उत्तर ⇒गहन या सघन कृषि की मुख्य विशेषताएँ हैं

(i) कृषि की उन्नत तकनीक के प्रयोग के कारण प्रति हेक्टेयर उत्पादन अधिक होता है।

(ii) नमी की अधिकता के कारण निचली जमीन में सघन कृषि की जाती है।

(iii) इस कृषि के तहत धान एवं गेहूँ सहित अन्य खाद्यान्नों की खेती की जाती है।

(iv) तमिलनाडु तथा पूर्वी भारत में धान की दो फसलें प्राप्त की जाती हैं।

(v) इस कृषि पद्धति में उर्वरकों का कम उपयोग किया जाता है।

(vi) अधिक खर्च करके कम जमीन से अधिक उत्पादन प्राप्त करना इस खेती की मुख्य विशेषता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *