Join For Latest Government Job & Latest News

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Inspiring Success Story: IPS अधिकारी Ankita Sharma ने नक्सली खतरों पर विजय प्राप्त की

Inspiring Success Story: IPS अधिकारी अंकिता शर्मा ने नक्सली खतरों पर विजय प्राप्त की

Inspiring Success Story: यूपीएससी उम्मीदवारों के विशाल महासागर में, केवल कुछ ही लोग ज्वार से ऊपर उठकर आईएएस या आईपीएस अधिकारी के रूप में सफलता हासिल कर पाते हैं। इन असाधारण उपलब्धियों में से एक हैं छत्तीसगढ़ के दुर्ग की आईपीएस अधिकारी अंकिता शर्मा।

Join us on Telegram
Inspiring Success story
Inspiring Success story

कई चुनौतियों और नक्सलियों की धमकियों का सामना करने के बावजूद, अंकिता का आईपीएस अधिकारी बनने का सफर किसी प्रेरणा से कम नहीं है। उनके दृढ़ संकल्प, कड़ी मेहनत और सार्वजनिक सेवा के प्रति प्रतिबद्धता ने उन्हें सभी बाधाओं को पार करने और भारतीय पुलिस सेवा में अपने लिए एक जगह बनाने के लिए प्रेरित किया।

शुरुआती दिन और आकांक्षाएँ

दुर्ग की रहने वाली अंकिता शर्मा बचपन से ही मेधावी छात्रा थीं। अपनी प्रारंभिक शिक्षा एक सरकारी स्कूल से पूरी करने के बाद, उन्होंने स्नातक की पढ़ाई की और बाद में एमबीए की डिग्री हासिल की। हालाँकि, उनका दिल सिविल सेवाओं पर केंद्रित था, जिसने उन्हें यूपीएससी की तैयारी की राह पर चलने के लिए प्रेरित किया।

यूपीएससी यात्रा की तैयारी

अंकिता शर्मा की यूपीएससी यात्रा दिल्ली में छह महीने की गहन तैयारी के साथ शुरू हुई। हालाँकि वह अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए घर लौट आई, लेकिन वह दृढ़ रही और अपने लक्ष्य पर केंद्रित रही। तीन प्रयासों के बाद, उनकी कड़ी मेहनत रंग लाई जब उन्होंने 2018 में यूपीएससी परीक्षा में प्रभावशाली 203वीं रैंक हासिल की और एक आईपीएस अधिकारी के रूप में प्रतिष्ठित पद हासिल किया।

नक्सल प्रभावित क्षेत्र में कमान संभाल रहे हैं

अंकिता शर्मा की सफलता की कहानी में एक उल्लेखनीय मोड़ आया जब वह छत्तीसगढ़ के संघर्षग्रस्त क्षेत्र में नक्सल ऑपरेशन को संभालने वाली पहली महिला आईपीएस अधिकारी बन गईं। मई 2022 में, उन्हें कांकेर में पुलिस अधीक्षक (एसपी) के रूप में नियुक्त किया गया, जहां उन्होंने नक्सली गतिविधियों की देखरेख और प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इससे पहले, वह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) के रूप में कार्यरत थीं।

किरण बेदी और उससे आगे की प्रेरणाएँ

अंकिता शर्मा भारत की पहली महिला आईपीएस अधिकारी, प्रतिष्ठित किरण बेदी से प्रेरणा लेती हैं। यूपीएससी की तैयारी के बारे में पहले से कम जानकारी होने के बावजूद चुनौतियों का सामना करने के बावजूद, अंकिता के दृढ़ संकल्प और उनके पति, भारतीय सेना के मेजर विवेकानंद शुक्ला के अटूट समर्थन ने उनकी सफलता की यात्रा को आगे बढ़ाया

Also read: Success Story Ansar Sheikh 21 साल की उम्र में बने IAS अफसर, जानें कैसा रहा उनका सफर?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top